PM मोदी ने लोगों से की अपील - कोरोना के खिलाफ लड़ाई में करें आर्धिक सहयोग

     देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोरोना के 149 मामले सामने आने के साथ ही देश में अब कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 873 हो गई है। लेकिन, देश ने कोरोना वायरस के खिलाफ पहले ही जंग छेड़ दी है। पूरे देश में लॉकडाउन लागू है। ऐसे में पीएम मोदी ने देशवासियों से कोरोना वायरस के खिलाफ इस जंग में आर्धिक सहयोग देने की अपील की ह



     प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, "PM-CARES फंड सूक्ष्म दान को भी स्वीकार करता है। यह आपदा प्रबंधन क्षमताओं को मजबूत करेगा और नागरिकों की सुरक्षा पर अनुसंधान को प्रोत्साहित करेगा। आइए हम अपनी भावी पीढ़ियों के लिए भारत को स्वस्थ और अधिक समृद्ध बनाने में कोई कसर न छोड़ें।" इसके साथ ही इस ट्वीट में पीएम मोदी ने PM-CARES की बैंक डिटेल्ट भी जारी की, जिमें लोग अपनी ओर को आर्थिक योग दान दे सकते हैं।


   इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक और ट्वीट कर कहा, "यह मेरे साथी भारतीयों से मेरी अपील है, कृपया PM-CARES फंड में योगदान करें। यह फंड भी इस तरह की परेशान करने वाली स्थितियों को संभालने में काम आएगा, अगर भविष्य में ऐसी स्थिति आती है तो।" अपने इस ट्वीट में पीएम मोदी ने एक वेबसाइट का लिंक भी दिया, जिसपर इस फंड से जुड़ी तमाम जानकारियां उपलब्ध हैं। पीएम ने लिखा, " इस लिंक में फंड के बारे में सभी महत्वपूर्ण विवरण हैं।"


   पीएम मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, "सभी देशों के लोगों ने COVID-19 के खिलाफ भारत के युद्ध में दान देने की इच्छा व्यक्त की। उस भावना का सम्मान करते हुए, प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और आपातकालीन स्थिति राहत निधि का गठन किया गया है। यह एक स्वस्थ भारत बनाने में एक लंबा रास्ता तय करेगा।"


    देश भर में कोरोना वायरस संक्रमण से शुक्रवार से दो मौतें सहित 149 नये मामले सामने आए हैं। अब देश में कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या  873 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि देश भर में डॉक्टरों को कोविड-19 रोगियों की देखभाल के बारे में दिल्ली स्थित एम्स की मदद से प्रशिक्षित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमित लोगों के संपर्क का पता लगाने के लिये पुरजोर कोशिश जारी है, कोविड-19 के लिये विशेष अस्पताल बनाने पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है।