भारत-अमेरिका रक्षा सौदे से पाकिस्तान घबराया, कहा- मिसाइलें देकर अस्थिरता पैदा कर रहा है US

     अमेरिका और भारत के बीच रक्षा सौदा को मंजूरी मिलने पर पाकिस्तान की चिंता बढ़ गई है। पाकिस्तान ने अमेरिका पर आरोप लगाया कि वह भारत को जहाज-रोधी मिसाइलें देकर क्षेत्र में अस्थिरता पैदा कर रहा है। 



     अमेरिका ने सोमवार को 15.5 करोड़ डॉलर की हारपून ब्लॉक-2 एयर लॉन्चड मिसाइलें और हल्के वजन के टॉरपीडो भारत को बेचने की मंजूरी दी थी। इस पर पाकिस्तान की बौखलाहट बढ़ गई है। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता आइशा फारुकी ने कहा कि अमेरिका का भारत को मिसाइलों की बिक्री क्षेत्रीय शांति के लिए खतरा है। जब सारी दुनिया महामारी से लड़ रही हैं, ऐसे में इस तरह की मिसाइल प्रणालियों की बिक्री, तकनीकी सहायता और लॉजिस्टिक समर्थन देना परेशान करने वाला कदम है। यह दक्षिण एशिया में पहले से ही अस्थिर स्थिति को अस्थिर करेगा। 


   पेंटागन ने रक्षा सौदे के बारे में अमेरिकी संसद को अवगत कराते हुए कहा कि भारत हारपून ब्लॉक-2 और एमके-54 का इस्तेमाल क्षेत्रीय खतरों से निपटने और अपनी धरती की सुरक्षा बढ़ाने के लिए करेगा। 


पाकिस्तानी सेना ने पुंछ में गोलाबारी की - वहीं पाकिस्तानी सेना ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर रिहायशी इलाकों और अग्रिम चौकियों पर गोलाबारी की। भारतीय सेना ने इसका करारा जवाब दिया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। शुक्रवार को लगातार 13वें दिन गोलाबारी और गोलीबारी की गई।


  रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा कि आज पूर्वान्ह्र लगभग 11 बजे पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के कस्बा और किरनी सेक्टरों को निशाना बनाकर अकारण संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना इन सभी सेक्टरों में कड़ी जवाबी कार्रवाई कर रही है।