केरल ने कोरोना को किया काबू, ग्रीन जोन में सोमवार से चलेंगी बसें, रेस्त्रां में बैठकर खा सकेंगे लोग

     देश में कोरोना संक्रमण का पहला मामला दक्षिणी राज्य केरल में सामने आया था। शुरुआत में यहां वायरस काफी तेजी से फैला, लेकिन अब उसे काफी हद तक काबू कर लिया गया है। कोरोना को कुछ जिलों में कैद करने के बाद पी. विजयन सरकार राज्य में लॉकडाउन से राहत देने जा रही है। सोमवार से दो जिलों में बसें चलने लगेंगी, लोग ऑड-ईवन सिस्टम से अपनी गाड़ी से भी आवाजाही कर सकेंगे तो रेस्त्रां में बैठकर खाना भी खा पाएंगे।  केरल सरकार ने सभी जिलों को चार जोन में बांट दिया है और सभी के लिए अलग-अलग गाइडलाइन जारी की गई है। 



     रेड जोन में आने वाले जिलों कासरागोड, कन्नूर, कोझिकोड और मल्लापुरम को कोई छूट नहीं दी गई है। इन जिलों में मौजूद हॉटस्पॉट पूरी तरह सील रहेंगे। जरूरी वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति के लिए पहले की तरह अंदर जाने और बाहर निकलने के लिए दो ही गेट होंगे। 


ऑरेंज जोन में आंशिक छूट - पाथानामिथिटा, एरनाकुलम और कोल्लम जिलों को ऑरेंज ए जोन में रखा गया है और यहां 24 अप्रैल से लॉकडाउन में आंशिक छूट दी जाएगी, जबकि ऑरेंज बी जिलों अलाप्पुजा, त्रिवेंद्रम, पलाक्कड, वायनाड और त्रिस्सुर ने सोमवार से ही लोगों को कुछ राहतें मिल जाएंगी। 


ग्रीन जोन में कई तरह की छूट - राज्य के दो जिले कोट्टयम और इडुक्की को ग्रीन जोन में रखा गया है और यहां के लोगों को सोमवार से प्रतिबंधों से काफी हद तक राहत मिल जाएगी। 


ऑड-ईवन स्कीम के जरिए गाड़ियों में निकलेंगे लोग - निजी वाहनों के लिए ऑड-ईवन स्कीम को लागू किया जाएगा। सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को ऑड नंबर (विषम संख्या) वाली गाड़ियां सड़कों पर चलेंगी तो मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को ईवन नंबर (सम संख्या) वाली गाड़ियों से लोग बाहर जा सकेंगे। जरूरी सेवाओं में लगे लोगों और आपात स्थिति में ऑड-ईवन से छूट दी जाएगी। चार पहिया वाहन में ड्राइवर के अलावा पिछली सीट पर दो से अधिक लोग नहीं बैठ सकते हैं, जबकि दोपहिया वाहन पर एक की व्यक्ति सवारी कर सकती है। परिवार के सदस्य को पीछे बिठाने की छूट होगी।