कोरोना जिस शहर से शुरू हुआ वहां लॉकडाउन खुला

     वो वायरस जिसने दुनिया भर में तबाही मचा रखी है, वह जिस शहर से फैलना शुरू हुआ था वहाँ के लोगों को ग्यारह हफ़्तों के बाद पहली बार शहर से बाहर जाने दिया जा रहा है. अधिकारियों ने इसे सफलता घोषित किया है लेकिन चीन के वुहान शहर के लोगों की राय काफ़ी अलग है. मानव इतिहास के संभवतः सबसे बड़े लॉकडाउन के बाद लोग उन मुश्किल दिनों को याद करके राहत की साँस ले रहे हैं.



     76 दिन के बाद वुहान की सड़कों पर वाहन हैं, हाइवे के टोल प्लाज़ा खोल दिए गए हैं, विमान और रेल सेवाएँ भी शुरू हो गई हैं. अब वुहान के लोगों को चीन के दूसरे शहरों में जाने दिया जा रहा है, बशर्ते की उन्हें संक्रमण मुक्त माना जाए. वुहान हुबे प्रांत का शहर है और अब यहाँ से ग्वांग्ज़ू और सियान के लिए रेल गाड़ियाँ चलने लगी हैं.


   डिलिवरी वैन चलाने वाले जिया शेंगज़ी ने कहा, "पिछले दो महीनों से सड़कों पर कोई नहीं था, यह देखकर मुझे बहुत दुख होता था." वुहान में लॉकडाउन को काफ़ी सख़्ती से लागू किया गया, शुरुआत में तो लोगों को खाने का सामान लाने के लिए घर से निकलने की छूट थी लेकिन फ़रवरी के मध्य में किसी को अपने घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं थी. सब कुछ डिलिवरी ड्राइवरों पर निर्भर था और वे ही जीवन रेखा की तरह काम कर रहे थे.