यूरोपीय देशों की तुलना में भारत की स्थिति बेहतर - डॉ. हर्षवर्धन

     देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों में तेजी जरूर आई है, फिर भी यहां की स्थिति यूरोपीय देशों के मुकाबले बेहतर है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने यह दावा करते हुए कहा कि दिल्ली मरकज की एक घटना ने अचानक पूरा माजरा ही बदल दिया। भविष्य की तैयारियों पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि देश के किसी भी कोने में स्वास्थ्य उपकरणों की कमी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि भारत किसी भी स्थिति से निपटने को पूरी तरह तैयार है।



यूरोपीय देशों का हाल - पिछले कुछ हफ्तों से यूरोप इस संकट का केंद्र बना हुआ है, लेकिन ऐसे संकेत मिले हैं कि यह महामारी वहां चरम पर पहुंच सकती है। स्पेन और ब्रिटेन में 24 घंटे के दौरान क्रमश: 950 और 569 लोगों की मौत हुई हैं। अकेले इटली और स्पेन में ही पूरी दुनिया में मरने वाले लोगों की आधी संख्या है।


   यूरोपीय देशों की हालत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इंग्लैंड के प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन के साथ-साथ प्रिंस चार्ल्स तक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। प्रधानमंत्री जॉनसन ने 'बड़ी संख्या में लोगों की जांच' करने का आह्वान किया। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि आने वाले हफ्तों में एक दिन में 1 लाख लोगों की जांच करने का लक्ष्य है। खुद COVID-19 की चपेट में आए जॉनसन की बड़े पैमाने पर जांच न कराने के लिए आलोचना की गई।