क्या आ गई खुशखबरी? इजरायल के रक्षा मंत्री का दावा - हमने बना ली कोरोना की वैक्सीन

     कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में हाहाकार मचा है। इस खतरनाक कोविड-19 से लाखों लोगों की मौत हो चुकी है, फिर भी इसका इलाज नहीं मिल पाया है। मगर इस बीच इजरायल के रक्षा मंत्री ने दावा किया है कि उनके देश ने कोरोना वायरस की वैक्सीन बना ली है। रक्षा मंत्री नैफ्टली बेन्‍नेट ने अपने एक बयान में कहा कि इजरायल के डिफेंस बायोलॉजिकल इंस्‍टीट्यूट ने कोविड-19 का टीका बना लिया है। उन्‍होंने कहा कि हमारी टीम ने कोरोना वायरस को खत्म करने के टीके के विकास का चरण पूरा कर लिया है। यह जानकारी द जेरूसलम पोस्ट ने दी है।



     रिसर्च टीम द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर इजरायल के रक्षा मंत्री नैफ्टली ने बताया कि यह एंटीबॉडी कोरोना वायरस पर हमला करता है और इसे शरीर में खत्म कर देता है। उन्होंने कहा कि संस्थान अब एंटीबॉडी के लिए पेटेंट प्राप्त करने और इसके व्‍यापक पैमाने पर उत्‍पादन के लिए तैयारी कर रहा है। इस मामले में अब इजराइल के डिफेंस बायोलॉजिकल इंस्‍टीट्यूट के साथ रक्षा मंत्रालय समन्वय करेगा।


     रक्षा मंत्री नैफ्टली बेन्नेट ने सोमवार को कहा कि मुझे बायोलॉजिकल इंस्‍टीट्यूट के कर्मचारियों पर गर्व है, जिन्होंने एक बड़ी सफलता हासिल की है। बता दें कि इजरायल ने अब तक देश में 404,000 कोरोना सैंपल्स की जांच की है और उनमें से 16,246 संक्रमित पाए गए हैं। इस देश में कोरोना वायरस से अब तक 235 लोगों की मौत हो चुकी है। 


     पिछले महीने बायोलॉजिकल इंस्‍टीट्यूट ने बताया था कि उसने मूषक पर एंटीबॉडी-आधारित वैक्सीन प्रोटोटाइप का परीक्षण शुरू कर दिया है। संस्थान उन लोगों से प्लाज्मा भी इकट्ठा कर रहा है,  जो कोरोना वायरस संक्रमण से उबर चुके हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि यह शोध में मदद कर सकता है। बता दें कि इजरायल द्वारा दावा किए जाने के बाद सोशल मीडिया #वैक्सीन_बना ट्रेंड करने लगा।


Popular posts
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image