कोरोना की दवा के सरकार ने रोके विज्ञापन, रामदेव बोले-कुछ कम्युनिकेशन गैप था

     पतंजलि की तरफ से मंगलवार को दावा किया गया कि उन्होंने कोरोना से निजात दिलाने वाली एक दवा की खोज कर ली है. वहीं आयुष मंत्रालय ने मीडिया की खबर के आधार पर इस मामले को संज्ञान में लिया है. मंत्रालय का कहना है कि कंपनी की तरफ से जो दावा किया गया है उसके फैक्ट और साइंटिफिक स्टडी को लेकर मंत्रालय के पास कोई जानकारी नहीं पहुंची है. इस पर पंतजलि के योगगुरु रामदेव ने कहा कि हमने मंजूरी लेकर ही क्लीनिकल ट्रायल किया है.


          बातचीत में बाबा रामदेव ने कहा कि यह सरकार आयुर्वेद को प्रोत्साहन और गौरव देने वाली है, जो क्मयूनिकेशन गैप था, वह दूर हो गया है और Randomised Placebo Controlled Clinical Trials के जितने भी स्टैंडर्ड पैरामीटर्स हैं उन सबको 100% पूरा किया गया है. इसकी सारी जानकारी हमने आयुष मंत्रालय को दे दी है.


     योगगुरु रामदेव ने कहा कि इतना बड़ा काम किया गया है कि इतने सवाल तो होने ही हैं. सबका जवाब दे दिया गया है. ये जो सरकार है आयुर्वेद विरोधी सरकार नहीं है. मंजूरी मिलने के बाद ही आगे बढ़े. रजिस्ट्रेशन नंबर भी दिया गया है. हमने 100 फीसदी क्लीनिकल ट्रालय के लिए जो सरकार द्वारा निर्धारित हैं उन मापदंडों का पालन किया है. जो अप्रूलवल लेना चाहिए था उसे लिया. मुझे लगता है कि थोड़ा कम्यूनिकेशन गैप थो वो अब खत्म हो गया है. अब इसमें कोई विवाद नहीं है. आचार्य रामकृष्ण ने ट्वीट करके भी यही बात दोहराई.


Popular posts
2,362 करोड़ का ड्रग्स जला देना, अवैध तस्करी के खिलाफ हमारी शीर्ष प्राथमिकता - देवेश चंद्र श्रीवास्तव (DGP, मिजोरम)
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी द्वारा रीजनल कॉलेज फॉर एजुकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में दो दिवसीय अन्तराष्ट्रीय कांफ्रेंस से देश में नए इलेक्ट्रॉनिक युग का प्रारंभ होगा - डॉ बी .डी. कल्ला
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
हर किसान का यही पैगाम, खेत को पानी, फसल को दाम - रामपाल जाट
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image