भारतीय सेना को मिलने वाले हैं ड्रोन्स इजरायल, अमेरिका से

     अपनी क्षमता को विस्तार देने के प्रयास के तहत भारतीय सेना को जल्द ही इजरायली हेरोन और अमेरिकी मिनी ड्रोन्स मिलने वाले हैं। इनके जरिए चीन से लगती सीमा और पूर्वी लद्दाख में सर्विलांस को मजबूत किया जाएगा। सरकारी सूत्रों ने बताया कि हेरोन सर्विलांस ड्रोन्स के लिए अधिग्रहण सौदा अंतिम चरण में हैं और उम्मीद की जा रही है कि दिसंबर में इस पर हस्ताक्षर हो जाएंगे। हेरोन ड्रोन्स को लद्दाख सेक्टर में तैनात किया जाएगा। ये भारतीय सुरक्षाबलों के बेड़े में शामिल ड्रोन्स से अधिक अडवांस हैं। 



     इन ड्रोन्स का अधिग्रहण नरेंद्र मोदी की सरकार की ओर से सुरक्षाबलों को दिए गए इमर्जेंसी फाइनेंशल पावर्स का इस्तेमाल करते हुए किया जाएगा। इसके तहत युद्धक क्षमता में विस्तार के लिए 500 करोड़ रुपए तक के इक्विपमेंट और सिस्टम खरीदे जा सकते हैं। चीन से तनाव के बीच सरकार ने यह मंजूरी दी थी। 

     

     सूत्रों के मुताबकि, दूसरे छोटे या मिनी ड्रोन्स अमेरिका से खरीदे जा रहे हैं, जिन्हें बटालियन स्तर पर उपलब्ध कराया जाएगा। हाथ से संचालित होने वाले ड्रोन्स का इस्तेमाल विशेष क्षेत्र पर नजर रखने के लिए किया जाएगा। भारतीय नेवी ने हाल ही में अमेरिकी नेवी से दो हाईटेक ड्रोन लीज पर भी लिए हैं।
  
     भारतीय सुरक्षाबल ऐसे हथियारों की खरीद में जुटे हैं जो उन्होंने चीन के साथ मौजूदा तनाव में मददगार साबित होंगे। इससे पहले 2019 में पाकिस्तान में स्थित बालाकोट में आतंकी कैंपों पर एयर स्ट्राइक्स के दौरान भी सेनाओं को इस तरह के अधिकार दिए गए थे। इंडियन एयरफोर्स ने इस अधिकार का इस्तेमाल करते हुए बड़ी संख्या में हैमर एयर टु ग्राउंड स्टैंडऑफ मिसाइलों की खरीद की थी, जिनकी मारक क्षमता 70 किलोमीटर तक है।

Popular posts
2,362 करोड़ का ड्रग्स जला देना, अवैध तस्करी के खिलाफ हमारी शीर्ष प्राथमिकता - देवेश चंद्र श्रीवास्तव (DGP, मिजोरम)
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी द्वारा रीजनल कॉलेज फॉर एजुकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में दो दिवसीय अन्तराष्ट्रीय कांफ्रेंस से देश में नए इलेक्ट्रॉनिक युग का प्रारंभ होगा - डॉ बी .डी. कल्ला
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा