मॉस्को में विक्ट्री डे परेड, इंडियन आर्मी की तीनों सेनाओं की टुकड़ी ने लिया हिस्सा

     चीन के बीच जारी मौजूदा तनाव के इस वक्त में मॉस्को में भारतीय सेना ने विक्ट्री डे परेड की. इस दौरान भारत की तीनों सेनाओं की टुकड़ी ने हिस्सा लिया. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी रूस की विक्ट्री डे परेड में शामिल होने पहुंचे. लद्दाख में चीन के साथ सीमा विवाद के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इस समय तीन दिन के रूस के दौरे पर हैं. इस दौरान राजनाथ सिंह रूस की विक्ट्री डे परेड की 75वीं वर्षगांठ पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए हैं. रूस की विक्ट्री डे परेड में भारत के 75 जवानों की टुकड़ी भी शामिल हुई.


(Photo - विक्ट्री डे परेड)



     साथ ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी इस परेड के दौरान मौजूद रहे. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने विक्ट्री डे परेड में शामिल होने के लेकर ट्वीट किया. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि भारतीय सशस्त्र बलों के जरिए इस परेड में हिस्सा लेने पर मुझे गर्व है.


अहम डील पर हो सकती है चर्चा - पिछले तीन महीनों में राजनाथ सिंह का यह पहला विदेशी दौरा है. उम्मीद जताई जा रही है कि रक्षा मंत्री के इस दौरे पर भारत को कई महत्वपूर्ण हथियार मिल सकते हैं, जिसमें S-400 एंटी मिसाइल सिस्टम भी शामिल है. माना जा रहा है कि राजनाथ सिंह के इस दौरे के दौरान रूस के साथ चल रही डील को लेकर चर्चा होगी.


एस-400 डिफेंस सिस्टम - सूत्रों की मानें तो भारत रूस से हथियारों को लेकर जो डील हुई है उनकी जल्द डिलीवरी की मांग कर सकता है, जिसमें फाइटर एयरक्राफ्ट, टैंक और सबमरीन शामिल हैं. रूस के साथ बड़े हथियारों के साथ करार में सबसे अहम एस-400 डिफेंस सिस्टम है. एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम भारत को दिसंबर 2021 तक मिलना था, लेकिन कोविड-19 की वजह से उसकी डिलीवरी में देरी हो रही है. इसके अलावा सुखोई 30 एम और टी-90 टैंक की भी जल्द डिलीवरी की मांग भारत कर सकता है.


Popular posts
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image