गुजरात में भारी बारिश तो असम में बाढ़ की स्थिति में सुधार

     मंगलवार को देश के कई हिस्सों में बरसात हुई। गुजरात में भारी बारिश से बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई, जबकि पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में सोमवार को बारिश की तीव्रता कम हो गई। इस बीच, असम में बाढ़ की स्थिति में सुधार हुआ है, हालांकि बाढ़ की वजह से एक व्यक्ति की जान चली गई। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि मानसून अभी पूरे जोर पर है। 


    अगले तीन दिनों में गुजरात के कई हिस्सों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की आशंका है। और महाराष्ट्र के भी कई हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। गुजरात के देवभूमि द्वारका जिले के खंभालिया तालुका में 487 मिलीमीटर बारिश होने के एक दिन बाद सौराष्ट्र क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों में सोमवार को भारी बारिश जारी रही, जिससे कुछ क्षेत्रों में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई।



     अधिकारियों ने बताया कि बारिश से उपजे हालत से निपटने के लिए खंभालिया में सोमवार को राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के एक दल को तैनात किया गया। एक स्थानीय अधिकारी ने कहा कि बारिश के कारण जूनागढ़ में लगभग 30 वर्ष पुराना एक पुल ढह गया। उन्होंने बताया कि पुल ढहने से किसी के घायल होने की खबर नहीं है। पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश हुई। दिल्ली में छिटपुट बारिश की वजह से पारा नीचे रहा। अगले कुछ दिनों में राष्ट्रीय राजधानी में और अधिक वर्षा होने की संभावना है। सफदरजंग वेधशाला ने 0.6 मिमी बारिश दर्ज की और अधिकतम तापमान 36.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।


     मौसम विभाग ने मंगलवार को दिल्ली में हल्की से मध्यम बारिश, बादल गरजने और तेज हवाएं चलने का अनुमान लगाया है। असम में सोमवार को बाढ़ की स्थिति में कुछ सुधार हुआ हालांकि एक व्यक्ति की मौत हो गयी। बाढ़ के कारण राज्य के 15 जिलों में करीब चार लाख लोग प्रभावित हुए हैं।  बाढ़ की स्थिति पर असम राज्य आपदा मोचन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की रोजाना रिपोर्ट के मुताबिक नगांव जिले के राहा में बाढ़ से एक व्यक्ति की मौत हो गई। राज्य में इस साल बाढ़ और भूस्खलन की विभिन्न घटनाओं में 62 लोगों की मौत हुई है। इसमें से 38 लोगों की मौत बाढ़ में और 24 लोगों की मौत भूस्खलन के कारण हुई।