LAC से सैनिकों को पीछे हटाएंगे भारत और चीन, तनाव कम करने के लिए

     भारत और चीन के कमांडरों के बीच 14 जून को 15 घंटे की बातचीत चुशुल में हुई. इस बैठक में पहले चरण में तनाव कम करने के लिए एलएसी से सैनिकों के पीछे हटने पर चर्चा हुई. साथ ही पूरी तरह एलएसी पर तनाव कैसे खत्म हो और जवानों को कैसे पीछे हटाया जाए इस पर भी चर्चा हुई. दोनों पक्षों ने मंगलवार को हुई बैठक में कम्पलीट डिसइंगेजमेंट को लेकर अपनी बात दोहराई.  हालांकि ये बहुत जटिल है जिसके लिए लगातार वेरिफिकेशन की जरूरत पड़ेगी. 




(प्रतीकात्मक फोटो)




 


     हालांकि सूत्रों से ये भी पता चल रहा है कि लद्दाख के फिंगर एरिया से चीन पूरी तरह हटने को तैयार नहीं है. लेकिन लेफ्टिनेंट जनरल अधिकारियों की बैठक में भारत ने चीन से स्पष्ट कह दिया है अप्रैल 2020 की यथास्थिति से कम उसे कुछ भी मंजूर नहीं है.  चीन फिंगर 4 से पीछे हटा है जहां वह डटा हुआ था, बल्कि फिंगर 5 के पीछे हटा है. लेकिन वो फिंगर एरिया में बना रहना चाहता है. खास तौर से फिंगर 8 एरिया में. जबकि भारत पहले फिंगर 8 तक हमेशा से पेट्रोलिंग किया करता था. 

   

     गलवन घाटी और हॉट स्प्रिंग के बाद गोगरा से चीनी सैनिक पीछे हट चुके हैं. जिसकी पुष्टि सेटेलाइट इमेज से भी हुई है. लेकिन अभी भी पैंगोंग लेक इलाके में गतिरोध बना हुआ है. सैटेलाइट तस्वीरों से ये बात सामने आ रही है कि पैंगोंग त्सो झील से चीन से अपनी सेना को हटाया है. सैटेलाइट तस्वीरों से जून की और ताजा तस्वीरों में फर्क नजर आ रहा है. देखना यह होगा कि क्या चीनी सेना अपनी पुरानी जगह फिंगर 8 के पीछे जाती है या नहीं? 


Popular posts
2,362 करोड़ का ड्रग्स जला देना, अवैध तस्करी के खिलाफ हमारी शीर्ष प्राथमिकता - देवेश चंद्र श्रीवास्तव (DGP, मिजोरम)
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी द्वारा रीजनल कॉलेज फॉर एजुकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में दो दिवसीय अन्तराष्ट्रीय कांफ्रेंस से देश में नए इलेक्ट्रॉनिक युग का प्रारंभ होगा - डॉ बी .डी. कल्ला
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा