सावन का दूसरा सोमवार : शिवालयों पर गूंजे बोल बम-बम

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ श्रद्धालुओं ने किया दर्शन-पूजन


     दो दिन लॉकडाउन के बाद सोमवार को लोग सीधे भोलेनाथ के द्वार पहुंचे। भोलेनाथ के दर्शन किए जलाभिषेक किए उनसे कोरोना महामारी से छुटकारा दिलाने की कामना की। लखनऊ के डालीगंज के मनकामेशवर मंदिर में बड़ी संख्या में लोग मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भोलेनाथ के दर्शन किए। लोगों ने दर्शन करने के साथ-साथ मेगास्टार अमिताभ बच्चन व पूरे परिवार मे हुए कोरोना मुक्ति की कामना की।



      लॉकडाउन खुलने के बाद 5:30 बजे से ही मंदिर के बाहर महिलाओं व पुरुषों की अलग अलग कतारें लगने लगी थी। दूसरे सोमवार को भोलेनाथ पर जलाभिषेक करने के लिए दो पाइप अरघा लगाए गए जिससे लोगों ने जलाभिषेक किया। इससे पूर्व महंत देव्या गिरि ने भोलेनाथ की आरती की श्रृंगार किया, फिर दर्शन के लिए पट खोले गए। इस बार भी गर्भगृह के बाहर से ही लोगों ने दर्शन किए। मंदिर के बाहर डालीगंज व्यापार मंडल के अध्यक्ष मनीष गुप्ता की ओर से गंगाजल का निशुल्क वितरण किया गया। मंदिर के आसपास का इलाका बोल बम बम, ओम नमः शिवाय के जयकारों से गूंज रहा था।


     राजेन्द्रनगर के महाकाल मंदिर में सावन के दूसरे सोमवार को उज्जैन के महाकालेश्वर मन्दिर की तर्ज पर भस्म आरती की गई। संयोजक अतुल मिश्रा ने बताया कि पूजन के माध्यम से महाकाल बाबा से अमिताभ बच्चन के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना भी की गई। सदर के द्वादश ज्योतिर्लिंग में लोगों ने बाहर से दर्शन किए।


    इसके अलावा चौक के कोनेश्वर मन्दिर, ठाकुरगंज के कल्याण गिरि मन्दिर, रकाबगंज के सिद्धिनाथ मन्दिर व नागेश्वर मन्दिर, लालकुआं स्थित महाकालेश्वर मन्दिर, ठाकुरगंज के मांपूर्वी देवी एवं महाकालेश्वर मन्दिर में भी लोग मास्क लगाकर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये दर्शन किए।


Popular posts
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image