सामान्य पर एसटी महिला उम्मीदवार

News from - भूपेन्द्र औझा

रायपुर में स्वजाति मे चुनावी राग

     भीलवाड़ा। सहाड़ा विधानसभा में पंचायत राज चुनाव सेमीफाइनल चुनाव दंगल है। उपचुनाव से कुछ पहले हो रहे पंचायत समिति चुनाव में दोनो प्रमुख दल काग्रेंस- भाजपा बाजी अपने पक्ष मे करने बाबत कमर कश चुकी हैं। सहाड़ा विधानसभा क्षेत्र में यू तो तीन पंचायत समिति का ईलाका समावेश है।पर सहाड़ा -रायपुर मुख्य है। सहाड़ा पंचायत समिति में प्रधान भीलवाड़ा जिला प्रमुख की तरह एसटी महिला आरक्षित है ओर पंचायत समिति में मात्र एक निर्वाचन क्षेत्र 6  सालरिया एसटी महिला आरक्षित  है। पर जीतेगा तो कोई एक! जो पार्टी हारी वह प्रधान पद की उम्मीदवारी से गई !! इस खतरे के मद्देनजर दोनो प्रमुख पार्टियों ने सामान्य निर्वाचन क्षेत्र में भी एसटी महिला उम्मीदवार उतार रखी है। भाजपा ने एक ओर जगह, तो काग्रेंस ने एक कदम आगे रख दो जगह!

     एसटी महिला आरक्षित वार्ड 6 सातलियास- खांखला मे काग्रेस की उम्मीदवार है मूली देवी भील, भाजपा ने मुकाबले में बीए पास मांगी देवी भील को खडा किया। मांगी देवी के परिवार का सदस्य कैलाश भील पंचायत समिति भाजपा पूर्व सदस्य हैं। वहीं खांखला मे काग्रेंस समर्थित जाट महिला सरपंच।दोनो पंचायतो मे भील मतदाता खासे है तो निर्णायक जाट ओर गाडरी समुदाय के वोटर। काग्रेंस - भाजपा उम्मीदवारों की चुनावी जीत- हार को गडबडाने के लिए यहां एक निर्दलीय प्रत्याशी लक्ष्मी देवी भील भी मैदान में है। लक्ष्मी देवी का भाई श्याम लाल भील सहाड़ा पंचायत समिति में स्वच्छता भारत मिशन से जुडे है। निर्वाचन क्षेत्र 13 गणेशपुरा- शिवरती सामान्य मे काग्रेंस- भाजपा की एसटी महिला उम्मीदवारों के बीच आमने सामने का चुनाव दंगल है। 

     यहां काग्रेस की मोवनी भील उम्मीदवार है तो भाजपा की डाली देवी भील। गणेशपुरा काग्रेंस जिला महामंत्री एवम जिला परिषद पूर्व सदस्य श्याम पुरोहित की गृह पंचायत है।वहीं भाजपा पूर्व मण्डल अध्यक्ष नरेन्द्र सिंह का गृह क्षैत्र भी है। इस नाते दोनो प्रमुख पार्टी के आलानेताओ की यहां प्रतिष्ठा जुड गई।एक ओर मजे की बात बताये! गणेशपुरा सरपंच रतन लाल गुर्जर जिला परिषद सदस्य निर्वाचन क्षेत्र 9 से काग्रेंस प्रत्याशी है तो भाजपा पूर्व मण्डल अध्यक्ष नरेन्द्र सिंह के पुत्र सहाड़ा काँलेज अध्यक्ष बलवीर सिंह चुंडावत भाजपा उम्मीदवार।अब दोनों जिला परिषद उम्मीदवार भी अपने गृह क्षैत्र मे अपने अपने लिए ज्यादा से ज्यादा वोट बटोर ने की मशक्कत मे अलग लेगे है।इससे भी पंचायत समिति सदस्य चुनाव दिलचस्प हो गया।

     काग्रेंस ने तीसरा एसटी महिला उम्मीदवार अंतिम वार्ड 15 नादंशा- डेलाना मे तुलसी देवी भील को चुनाव में खड़ा किया है। यहाँ काग्रेंस का पंचायत समिति में अभी खाता भी नहीं खुला है डेलाना पंचायत में सरपंच पद इस दफे एसटी वर्ग के लिए आरक्षित हुआ है ओर काग्रेंस समर्थित धर्मचन्द भील सरपंच है।हार जीत गणित में निर्णायक जाट बाहुल्य नादंशा मे भाजपा समर्थित सरपंच किशन जाट है। भाजपा ने नादंशा के प्रकाश पारीक को उतारा। यहां दो निर्दलीय, अमुमन ग्राम पंचायत चुनाव में खडे होने वाले हस्तीमल जैन ओर नानी माली,खाती खेडा क्षैत्र मे प्रभावी है।

     सहाड़ा पंचायत समिति में  एसटी महिला प्रधान पद आरक्षण के बावजूद काग्रेंस- भाजपा ने बहुमत हासिल करने के मद्देनजर ईलाके के आलानेताओ को भी चुनाव मैदान में उतारा है। निर्वाचन क्षेत्र 3 ऊल्लाई मे काग्रेंस ब्लॉक उपाध्यक्ष बहादुर सिंह चुण्डावत भाजपा उम्मीदवार नारायण जाट से चुनाव लड रहे। वार्ड 8  सूरावाश- माझावास मे मेवाड़ जाट अध्यक्ष एवम पूर्व सरपंच भेरूलाल जाट का पुत्र, भाजपा उम्मीदवार रतन लाल जाट का काग्रेंस प्रत्याशी पुष्कर राज से सामने है। 

     निर्वाचन क्षेत्र 10 भरक-लाखोला मे भाजपा की जिला महिला मोर्चा पदाधिकारी सुशीला देवी जाट प्रत्याशी है।आमने सामने के सीधे चुनाव मुकाबले में काग्रेंस से भरक पंचायत पूर्व सरपंच नैना देवी जाट। वार्ड 11मे सोनियाणा-शिवरती मे रणजीतसिंह की धर्मपत्नी नर्वदा कंवर भाजपा उम्मीदवार ओर सीमा जाट काग्रेंस की. सहाड़ा के निर्वाचन क्षेत्र 12 भूणास- महेन्द्रगढ़ मे भाजपा मण्डल महामंत्री तख्त सिंह राणावत का काग्रेंस प्रत्याशी रामधन सोमाणी ओर निर्दलीय नारायण सिंह तथा रामसुख से मुकाबला है।

Popular posts
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image