महंगे सैलून की सस्ती हरकत - महिला ने जारी किया वीडियो

      मुजफ्फरनगर: जावेद हबीब एक मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट हैं. उनके यहां बाल कटवाने के लिए लोग खूब सारे पैसे भी खर्च करते हैं. कई बड़े शहरों में उनकी फ्रेंचाइजी होती है. हाल ही में जावेद हबीब के चर्चा में होने का कारण कोई नया हेयर स्टाइल नहीं है, बल्कि एक घटिया काम है. उत्तर प्रदेश के बागपत की रहने वाली ब्यूटी पार्लर संचालिका ने भारत के टॉप हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब पर सिर पर थूकने का आरोप लगाया है. महिला  ने जावेद की गन्दी हरकत को एक वीडियो जारी किया है. 

     मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसमें वह एक महिला के सिर पर थूकता नजर आ रहा है. वायरल वीडियो में जावेद हबीब यह कहते सुने जा सकते हैं कि इस थूक में जान है. महिला ने आरोप लगाया है कि जावेद हबीब ने थूक लगाकर उनके बाल काटने की कोशिश की. 

महिला ने नाराजगी जाहिर की 

     जब जावेद हबीब ने यह कहा कि इस थूक में जान है तो वहां मौजूद सभी लोग ठहाके लगाने लगते हैं. इस वीडियो पर पीड़ित महिला ने प्रतिक्रिया दी है और आपबीती सुनाई है.

     जावेद हबीब पर आरोप लगाने वाली महिला का नाम पूजा गुप्ता है. जो खुद को वीडियो में बड़ौत की निवासी बताती हैं. ‘मेरा नाम पूजा गुप्ता है और मैं वंशिका ब्यूटी पार्लर के नाम से मेरा पार्लर है और मैं बड़ौत की रहने वाली हूं. मैंने कल जावेद हबीब सर का सेमिनार अटेंड किया था. जावेद हबीब सर, जिसमें उन्हें ऑन द स्टेज मुझे हयर कट के लिए इनवाइट किया था और उन्होंने मिसबिहेव किया. उन्होंने यह दिखाया कि अगर आपके पास पानी न हो तो आप थूक से भी हेयर कट करा सकते हो. तो मैंने हयर कट नहीं करवाया. मैं किसी गली, नुक्कड़ के नाई से हेयर कट करा लूंगी, लेकिन जावेद हबीब से नहीं कटवाऊंगी.’


Popular posts
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image