दिल्ली-एनसीआर में हुई तेज बारिश - कोरोना वायरस पर क्या होगा असर

     दिल्ली-एनसीआर में मंगलवार को आंधी के साथ तेज बारिश हुई। कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन होकर घर में बैठे सभी लोगों ने बारिश का आनंद उठाया। ऐसे में लोगों में मन में एक सवाल भी आया। वह यह कि इस बारिश का कोरोना वायरस पर क्या असर होनेवाला है। वायरस इससे खत्म हो जाएगा या और बढ़ेगा?  ऐसा ही सवाल कुछ दिन पहले दुबई में भी उठा था। तब वहां के एक्सपर्ट ने बारिश के बारे में क्या कहा -



कोरोना वायरस को फैलने से रोकेगी बारिश - दुबई में रिस्पेरटरी सिस्टम से संबंधित बीमारियों के डॉक्टर विजय नायर बताते हैं कि बारिश के सादे पानी का कोरोना पर कोई असर होता है या नहीं यह साफ तौर पर कहा नहीं जा सकता। डॉक्टर के मुताबिक, कोरोना को साफ करने के लिए जो सैनिटाइजेशन किया जाता है उसमें सोडियम हाइड्रोक्लोराइड जैसे हाइ ग्रेड कीटाणुनाशकों का इस्तेमाल होता है। इसमें 70 प्रतिशत तक ऐल्कॉहॉल होता है। तब जाकर उससे बैक्टीरिया मरते हैं, ऐसे में सामान्य पानी से यह काम मुमकिन नहीं है।

   एक अन्य एक्सपर्ट की मानें तो कोरोना वायरस पानी में दो दिनों तक रह सकता है। ऐसे में बारिश से वे सिर्फ एक जगह से दूसरी जगह पर जमा होंगे। उनका भी कहना है कि वायरस को मारने के लिए पानी के साथ साबुन, किटाणुनाशक की जरूरत जरूर पड़ेगी ही। इसलिए ही लोगों से हाथ सिर्फ पानी नहीं बल्कि साबुन या सैनिटाइजर से धोने को कहा गया है।


गर्मी में खत्म होने की बात भी पुख्ता नहीं - इससे पहले लोगों के बीच यह बात भी चल रही थी कि कोरोना वायरस गर्मी में खुद खत्म हो जाएगा। लेकिन यह सही नहीं है। पहले आईं महामारियों में भी ऐसा नहीं था। वह मौसमी पैटर्न के हिसाब से आगे नहीं बढ़ी थीं। साथ ही, जब हमारे यहां गर्मियां शुरू होती हैं, तब दक्षिणी गोलार्ध में सर्दियां होती हैं और इस वायरस का प्रभाव वैश्विक है।