कोरोना संकट के बीच अमेरिका के धौंस जमाने वाले तेवर

     पिछले कुछ सालों में भारत और अमेरिका के बीच संबंधों में बहुत मजबूती आई है। लेकिन अमेरिका के रवैये ने हर बार संशय पैदा किया है। बेशक मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत से दोस्ती की अकसर दुहाई देते रहे हों, लेकिन उनके बयानों और तेवरों ने भारत को सशंकित ही किया है। वैश्विक कोरोना संकट के बीच एक बार फिर ट्रंप ने कुछ ऐसा किया है जिसे जानकर हर भारतीय हैरान है। 



ट्रंप ने दी भारत को चेतावनी - ट्रंप ने साफ तौर पर धमकी दे डाली है कि अगर भारत  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा की आपूर्ति नहीं करता है तो वह जवाबी कार्रवाई करेगा। भारत ने कुछ दिनों पहले ही  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा के निर्यात पर बैन लगाया था क्योंकि कोरोना वायरस के इलाज में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका मानी जा रही है। ट्रंप ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि मैंने प्रधानमंत्री मोदी से रविवार सुबह इस मुद्दे पर बात की थी। अगर वे दवा की आपूर्ति की अनुमति देंगे तो हम उनके इस कदम की सराहना करेंगे। अगर वे सहयोग नहीं भी करते हैं तो कोई बात नहीं, लेकिन वे हमसे भी इसी तरह की प्रतिक्रिया की उम्मीद रखे।

   ट्रंप ने कहा कि भारत कई वर्षों से अमेरिकी व्यापार नियमों का फायदा उठा रहा है, और ऐसे में अगर नई दिल्ली हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात को रोकता है, तो उन्हें हैरानी होगी। भारत ने पिछले महीने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था, जबकि कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज के लिए ट्रंप इस दवा की जोरदार वकालत कर रहे हैं।