नोटों से नाक पोंछकर बोला- कोरोना बीमारी नहीं, अल्लाह का अजाब है, पुलिस ने दबोच लिया

     कोरोना वायरस जानलेवा है। बार-बार लोगों को सचेत किया जा रहा है। देशभर के लोग लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं। इस बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें एक शख्स पांच-पांच सौ के नोटों से नाक पोंछ रहा है। शख्स का कहना है कि कोरोना वायरस अल्लाह का अजाब (श्राप) है। इस शख्स के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पुलिस ने इसे कस्टडी में ले लिया है।





     ट्विटर पर पोस्ट हुए इस वीडियो के साथ लिखा गया है- यह व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो सकता है। यह नोटों से अपनी नाक पोंछ रहा है। नाक पोंछकर और थूककर यह नोटों को भी संक्रमित कर सकता है। वीडियो में शख्स खुद भी ऐसा ही कुछ इशारा कर रहा है। महाराष्ट्र के नासिक निवासी इस शख्स के खिलाफ अब पुलिस ने कार्रवाई की है।


   वीडियो में यह शख्स नोटों से अपनी नाक पोंछते हुए कहता है, 'कोरोना जैसी बीमारी का कोई इलाज नहीं है। ये बीमारी नहीं, ये अल्लाह का अजाब है, आप लोगों के लिए।' इस वीडियो पर नासिक ग्रामीण पुलिस ने ट्वीट करके कहा है, 'आरोपी के खिलाफ पुलिस ने कानूनी कार्रवाई की है। अभी आरोपी पुलिस कस्टडी में है।'