संयुक्त अरब अमीरात ने PM नरेंद्र मोदी से मांगी मदद - कोरोना से बचाने के लिए चाहिए भारतीय डॉक्टर और नर्स

     दवा के बाद अब दुनिया भारत से कोरोना वॉरियर्स भी मांग रही है। कोरोन वायरस संक्रमितों के इलाज के लिए संयुक्त अरब अमीरात ने मोदी सरकार से भारतीय डॉक्टर और नर्स भेजने की मांग की है। केंद्र सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। 



     1 करोड़ से कम जनसंख्या वाले यूएई में 11 हजार कोरोना वायरस संक्रमित मिल चुके हैं और हर दिन औसतन 500 नए मरीज मिल रहे हैं। यूएई विदेशों में पढ़े डॉक्टरों और पैरा मेडिकल स्टाफ पर निर्भर करता है, जिसमें भारतीय भी शामिल हैं। उनमें से कई छुट्टी पर थे जब दिल्ली और अबु धाबी ने कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए यात्री विमान सेवा पर रोक लगा दी थी। 


 
मोदी सरकार से दो अपील - केंद्र सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया, ''हमारे पास दो अपीलें आई हैं। एक तो उन स्वास्थ्य कर्मियों को भेजने के लिए जो विमान सेवा बंद किए जाने के समय भारत में थे और इसलिए अपनी ड्यूटी पर नहीं लौट पाए और साथ ही इस संकट में मदद के लिए कुछ समय के लिए डॉक्टरों और नर्सों की सेवा लेने की स्वीकृति मांगी गई है।''
 
सरकार कर रही विचार, UAE विमान भेजने को तैयार - अधिकारी ने कहा कि इन अपीलों पर सरकार विचार कर रही है। अधिकारी ने बताया कि अबु धाबी ने अपने यहां के हॉस्पिटल्स में कार्यरत भारतीयों के लिए विशेष विमान भेजने की पेशकश की है। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि दोनों देशों के बीच रिश्ते को देखते हुए पहले अपील पर पहले पूरा किया जाएगा।


Popular posts
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image