लॉकडाउन खुलने के बाद स्पीड में दौड़ेंगी ट्रेनें - नए सिस्टम से बिछाई जा रही पटरियां

     कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सब कुछ लॉकडाउन किया गया है। रेलवे ने भी ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया है। लेकिन इस दौरान रेलवे ने मेंटेनेंस के काम पर फोकस किया है। जहांं जिस काम पटरियां बदलनी है वहां पटरियां बदली जा रही है, जिन कोच में रिपेयरिंग की जरूरत है उसे किया जा रहा है। 



     लखनऊ में भी रेलवे लॉकडाउन के दौरान नई पटरियों को बिछाने का काम तेजी के साथ कर रहा है। मंडल रेल प्रबंधक संजय त्रिपाठी के निर्देशन में यह काम चल रहा है। जहां लखनऊ कानपुर रेल खंड के उन्नाव-मगरवारा के बीच नई पटरियों को मैकेनाइज्ड यानी बिना पटरियों को बिल्ड किए नई पद्धति से बिछाया जा रहा है। 


   इस कार्य से हाईस्पीड ट्रेनों के संचालन में कई समस्याएं कम होंगी। यात्रियों को पटरियों से झटका नहीं लगेगा और ट्रेन का सफर पहले से सुरक्षित होगा। लखनऊ के रास्ते लंबी दूरी की दो सौ से ज्यादा ट्रेनें गुजरती हैं। इस रेलखंड की उपयोगिता को ध्यान में रखते हुए इस काम को तेजी गति से संपन्न कराया जा रहा है। पटरियों को बिछाने के इस कार्य से जहां एक ओर इस रेलखंड पर आवागमन करने वाली रेलगाड़ियों की संचालन प्रक्रिया पहले से और बेहतर हो जाएगी। वहीं इस रेल खंड पर ट्रेन से यात्रियों को सफर और भी सुरक्षित होगा। मंडल के इंजीनियरिंग विभाग के आपसी सामंजस्य से इस काम की योजना बनी। जिसके आधार पर इस योजना को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।  


Popular posts
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image