पुणे से एयरलिफ्ट कर कैंसर पेशेंट को जयपुर लाया गया, पांच घंटे सर्जरी के बाद जान बची

     कोरोना रोकने में न केवल राजस्थान अग्रणी रहा बल्कि अब यहां के डॉक्टर्स ऐसी सर्जरी कर लोगों की जान बचाने में लगे हैं, जो कि दुनिया में गिने-चुने देशों में होती हैं। ऐसे ही एक मामले में अति-गंभीर बीमारी (ऑल्फेक्ट्री न्यूरोब्लॉस्टोमा) के मरीज की सफल सर्जरी करने में डॉक्टर्स ने सफलता हासिल की है।


(Photo - 29 अप्रेल को जैन ईएनटी हॉस्पिटल के डॉ. सतीश जैन द्वारा किए गए इस केस को विशेष अनुमति के बाद पूना से र्चाटर प्लेन से जयपुर लाया गया। कोविड जांच निगेटिव आने के बाद छह घंटे चली इस सर्जरी के बाद मरीज को बचाया जा सका)



     29 अप्रेल को जैन ईएनटी हॉस्पिटल के डॉ. सतीश जैन द्वारा किए गए इस केस को विशेष अनुमति के बाद पूना से र्चाटर प्लेन से जयपुर लाया गया। कोविड जांच निगेटिव आने के बाद छह घंटे चली इस सर्जरी के बाद मरीज को बचाया जा सका. मरीज ऑनिल अनप्पाराव को पिछले एक महीने से नाक से खून बह रहा था और असहनीय दर्द सहन करने को मजबूर थे।


     जांचों में आया कि उन्हें ऑल्फेक्ट्री न्यूरोब्लॉस्टोमा नामक बीमारी है। डॉ. सतीश जैन ने बताया कि यह डिजीज 25 लाख लोगों में से एक को होती है। इस बीमारी में किसी भी व्यक्ति की नाक के अंदर कैंसर पैदा होता है और ऊपर होता हुआ दिमाग में फैल जाता है। मरीज ऑनिल ने बताया महाराष्ट्र के कई डॉक्टर्स से संपर्क किया लेकिन उन्होंने जयपुर ही ले जाने की सलाह दी। पूना के डॉक्टर डॉ. अरविंद पाटील ने वहां के सांसद श्रीनिवास पाटील से संपर्क किया। सांसद ने इंटरनेशनल क्रिटिकल केयर एयर ट्रांसफर टीम से संपर्क किया।


Popular posts
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image