अशोक डिंडा ने दिया सुशांत सिंह राजपूत का उदाहरण, लगाया बंगाल क्रिकेट संघ पर बड़ा आरोप

     पिछले साल रणजी ट्रोफी सत्र के दौरान अनुशासनात्मक कारणों से बीच में बाहर कर दिए गए तेज गेंदबाज अशोक डिंडा ने खुद को बंगाल क्रिकेट की राजनीति का शिकार करार दिया। उन्होंने कहा कि वह इस सत्र में एक नई टीम के साथ दमदार वापसी करेंगे। उत्पल चटर्जी के बाद बंगाल की तरफ से सर्वाधिक विकेट लेने वाले डिंडा को गेंदबाजी कोच राणादेब बोस के साथ तीखी झड़प के बाद टीम से बाहर कर दिया गया था।




     बंगाल ने इस विवाद को पीछे छोड़ते हुए फाइनल में जगह बनायी और उप विजेता रहा। डिंडा ने से कहा कि उनकी कुछ टीमों के साथ बात चल रही है और वह बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) के पास जल्द ही अनापत्ति प्रमाणपत्र के लिए आवेदन कर देंगे। अब 116 प्रथम श्रेणी मैचों में 420 विकेट लेने वाले डिंडा ने कहा, ‘मैं बंगाल की टीम का हिस्सा नहीं रहूंगा, यह पक्का है। यह फैसला मैंने पिछले सत्र में ही कर दिया था। यह मेरा निजी मसला है।’


सुशांत सिंह राजपूत का दिया उदाहरण - उन्होंने कहा, ‘आपने देखा कि (अभिनेता) सुशांत सिंह राजपूत किस दौर से गुजरे थे। सब जगह यही हाल है लेकिन मैं मानसिक रूप से मजबूत हूं और किसी की वजह से मैं टूट नहीं सकता।’ भारत की तरफ से 13 वनडे और नौ टी20 अंतरराष्ट्रीय खेलने वाले डिंडा ने कहा, ‘मैं किसी अन्य राज्य की तरफ से खेलूंगा। मेरी कुछ टीमों से चर्चा चल रही है लेकिन मैंने अभी फैसला नहीं किया है कि अगले सत्र में मैं किस टीम का प्रतिनिधित्व करूंगा।’


Popular posts
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image