भोजन की तलाश में भटक रही थी गर्भवती हथिनी, गांववालों ने यूं दी दर्दनाक मौत

     कभी कभी मनुष्य इतना निष्ठुर हो जाता है कि क्षणिक आनंद के लिए उसे मासूम जानवरों को परेशान करने में आनंद आने लगता है। ऐसा ही हुआ केरल में जहां एक प्रेग्नेंट हथिनी को गांववालों ने दर्दभरी मौत दे दी है। दरअसल गावंवालों ने उसे एक ऐसा फल दे दिया कि उसके खाने से हथिनी की मौत हो गई। कथित तौर पर कुछ स्थानीय लोगों ने उसे पटाखों से भरा अनानास खिला दिया, जिसके बाद पटाखा उसकी मुंह में फट गया और उसकी दर्दनाक मौत हो गई। उत्तरी केरल के मलप्पुरम जिले में एक वन अधिकारी मोहन कृष्णन ने सोशल मीडिया पर भयानक मौत का किस्सा शेयर किया है।



      एक जंगली हथिनी जो कि कुछ दिनों में मां बनने वाली थी वो भोजन की तलाश में सड़क पर आ गई। वहां उसे स्थानीय लोगों ने पटाखे से भरे अनानास दिए। उसके मुंह में इतना शक्तिशाली पटाखा विस्फोट था कि उसकी जीभ और मुंह बुरी तरह घायल हो गए। हथिनी दर्द और भूख से गाँव में घूमताी रही। चोट लगने के कारण वह कुछ भी नहीं खा पा रही थी।


     इसके बाद हथिनी दर्द से परेशान होकर नदी में चली गई। वहां की तस्वीरें सामने आई हैं। हथिनी नदी में खड़ी होकर खुद को असहनीय दर्द से बचाने की कोशिश कर रही थी। वन अधिकारी के मुताबिक शायद उसने अपनी चोटों को मक्खियों और अन्य कीड़ों से बचने के लिए ऐसा किया होगा. वन अधिकारियों ने उसे नदी से बाहर निकालकर उसका इलाज कराने को सोचा। दो हाथियों जिनका नाम सुरेंद्रन और नीलकंठन था उससकी मदद से हथिनी को निकालने की कोशिश की गई, लेकिन वो बाहर नहीं आई। आखिरकार 27 मई के शाम 4 बजे पानी में खड़े खड़े ही उसकी मौत हो गई। जिसके बाद वन अधिकारियों ने उसका अंतिम संस्कार किया।