बिना मास्क पहने घर से निकलने वालों की अब खैर नहीं, लग सकती है भारी चपत

     एनसीआर (NCR) में बिना मास्क के बाहर निकलने वालों की अब खैर नहीं. बिना मास्क पहने घर से बाहर निकलने पर पुलिस सख्ती से पेश आ रही है. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए उत्तर प्रदेश के नोएडा और गाजियाबाद की पुलिस एक मुहिम चला कर ना केवल करवाई कर रही है बल्कि बिना मास्क वालों को मास्क देकर लोगों को जागरूक भी कर रही है. पिछले 10 दिनों की बात करें तो सिर्फ नोएडा में मास्क और सोशल डिस्टेन्स का पालन नहीं करने वाले 5000 लोगों का चालान कट चुका है. जबकि गाजियाबाद में लगभग 7000 लोगों का चालान कट चुका है. 



     नोएडा और गाजियाबाद में जो लोग कोरोना वायरस से बचने के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं उनके खिलाफ यूपी पुलिस सख्त है और उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है. बिना मास्क के जो लोग पहली बार पकड़े जा रहे हैं यूपी पुलिस उनके खिलाफ 100 रुपये का चालान काट रही है जबकि दूसरी बार पकड़े जाने पर 500 रुपये का चालान काटने का नियम है. पुलिस के देखते ही कई लोग भाग निकलते हैं. तो जो लोग पकड़े जाते हैं उनका मास्क को लेकर अलग-अलग बहाना भी है.


     डीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि दो लड़कियां बिना मास्क पहने नोएडा के अट्टा मार्केट में शॉपिंग कर रही थीं. ऐसा नहीं था कि उनके पास मास्क नहीं थे. मास्क उनके पास थे लेकिन उन्होंने लगाया नहीं और पुलिस को देखते ही दोनों मास्क लगाने लगीं. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों का चालान काटने पर वो पुलिस से रिक्वेस्ट करने लगते हैं कि अगली बार ऐसा नहीं करेंगे.  मार्केट में या भीड़भाड़ वाली जगहों पर लोग मास्क जेब में रखकर घूमते दिखाई देते हैं. नोएडा पुलिस ने नोएडा में बिना मास्क पहने लोगों के खिलाफ ड्राइव चलाया है. नोएडा पुलिस ने पिछले 10 दिनों में 5 हजार से ज्यादा लोगों के चालान किए हैं. 


Popular posts
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image