पंजाब का पावर कपल, दिनकर गुप्ता और विनी महाजन... पति पुलिस प्रमुख तो पत्नी के हाथ में प्रशासन का जिम्मा

     विनी महाजन शुक्रवार को पंजाब की पहली महिला चीफ सेक्रेटरी बनीं। 1987 बैच की भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी ने करण अवतार सिंह की जगह ली है। विनी के पास प्रशासन का 33 सालों का अनुभव है। वह केंद्र और पंजाब सरकार में अहम जिम्मेदारियों को बखूबी निभा चुकी हैं। खास बात यह है कि विनी महाजन के पति दिनकर गुप्ता राज्य के डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (डीजीपी) हैं। इन्हें राज्य का पावर कपल भी कहा जा रहा है। पति के हाथ कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी है तो पत्नी राज्य का प्रशासनिक कामकाज देखेंगी।



     पंजाब के दो मंत्रियों के साथ कहासुनी के कुछ सप्ताह बाद शुक्रवार को मुख्य सचिव करण अवतार सिंह को पद से हटाकर विनी महाजन को मुख्य सचिव का पदभार सौंपा गया है। भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी करण अवतार सिंह को अगले महीने उनकी सेवानिवृत्ति से ठीक पहले पदमुक्त कर दिया गया। गौरतलब है कि एक बैठक में पंजाब के दो मंत्रियों द्वारा उनके व्यवहार का विरोध करने के बाद यह कदम उठाया गया है।


     सरकारी बयान के अनुसार महाजन की आखिरी नियुक्ति निवेश प्रोत्साहन, उद्योग और वाणिज्य, आईटी और शासन सुधार और लोक शिकायत विभाग में अतिरिक्त मुख्य सचिव के रूप में थी। वह राज्य की स्वास्थ्य क्षेत्र प्रतिक्रिया और अधिप्राप्ति समिति की प्रमुख भी थीं। महाजन अभी राज्य में पंजाब कैडर की एकमात्र अधिकारी हैं जिन्होंने केंद्र में सचिव का पद संभाला है।


    वह पंजाब में उपायुक्त के रूप में तैनात होने वाली पहली महिला अधिकारी भी थीं। तब उन्हें 1995 में रोपड़ जिला सौंपा गया था। पंजाब सरकार के एक आदेश के अनुसार, 1984 बैच के आईएएस अधिकारी करण अवतार सिंह को अब शासन सुधार और लोक शिकायत विभाग में विशेष मुख्य सचिव के रूप में तैनात किया गया है। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा 2017 में मुख्य सचिव पद के लिए चुने गए सिंह अगस्त के अंत में सेवानिवृत्त होने वाले हैं।