"बिहार की बात" के तहत शुक्रवार को अलका लांबा ने अपनी बातें बिहार वासियों से कहीं

द्वारा - रवि आनंद (वरिष्ठ पत्रकार) पटना  


      बिहार कांग्रेस के द्वारा चलाए जा रहे सोशल मीडिया पर "बिहार की बात" के तहत शुक्रवार को अलका लांबा ने अपनी बातें बिहार वासियों से कहीं। उन्होंने कहा कि बिहार वासियों आपके पास सुनहरा अवसर है. आपको जिस तरह से भाजपा-जदयू की गठबंधन सरकार ने कोरोना काल के दौरान, दूसरे प्रदेशों में रोजी-रोटी के लिए काम करने वाले कामगार, मजदूर भाइयों व उनके परिवार को अपने घर बिहार लौटने में कितनी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा, यह पूरे देश ने देखा। केंद्र की भाजपा सरकार और नीतीश कुमार कोई मदद करने को आगे नहीं आया। वही बेरोजगारी की हालत को दर्शाते हुए कहा कि बिहार के युवा तुर्क प्रतिभाशाली,मेहनती व लगनशील होते हैं, आज वह बेरोजगारी के कागार पर आ खड़ा है।


(फाइल फोटो)



     महिलाओं की बात करते हुए कहा कि पूरे देश में बिहार ही एक ऐसा राज्य है जहां पुरुषों के वनस्पत महिलाएं अधिक मतदान करते हैं। यहां उसकी सरकार बनती है जिसे महिलाएं चाहती हैं।वहीं केंद्र सरकार के द्वारा जारी आंकड़े बताते हुए कहा कि बिहार में भाजपा जदयू की सरकार में सबसे अधिक महिलाओं पर अत्याचार हुआ है यह हम नहीं बल्कि केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा जारी आंकड़े बताती है,खासकर दहेज जैसे मसलन को लेकर महिलाएं आत्महत्या करने पर मजबूर हुई है। साथ ही यौन उत्पीड़न जैसे मामले को दर्शाते हुए मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड जैसे घृणित घटनाओं का जिक्र करते हुए भाजपा जदयू पर करारा प्रहार किया।


     बिहार प्रशासनिक क्राइम रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि भाजपा जदयू की सरकार में बेटियां सुरक्षित सुरक्षित नहीं है।महिलाओं को सशक्त करने के लिए उन्होंने कहा कि कांग्रेस इसको लेकर प्रतिबद्ध है और इसे घोषणापत्र में भी सम्मिलित किया गया है, कांग्रेस समर्थित महागठबंधन की सरकार बनने पर इसे पूरा किया जाएगा। साथ ही अन्य तमाम बातों का जिक्र करते हुए बिहार वासियों से कांग्रेस समर्थित महागठबंधन के प्रत्याशियों को मतदान कर जिताने की अपील की।