फिल्म "अनकही" का किया मुहूर्त - अरविंद चित्रांश (निर्माता)

द्वारा - अरविंद चित्रांश (निर्माता)


     पूर्वांचल की साहित्यिक सांस्कृतिक धरती पर, पूर्वांचल विश्वविद्यालय की पहली बार नारी शक्ति का प्रतिनिधित्व कर रही कुलपति प्रोफेसर निर्मला एस. मौर्य ने  डॉ अखिलेश चंद्र की फिल्म "अनकही" द अनटोल्ड स्टोरी के लिए, मुंबई से आए डायरेक्टर को बधाई देते हुए कहा कि नारी शक्ति,भ्रूण हत्या जैसी सामाजिक बीमारियों पर बनने वाली फिल्म के साथ हम सभी लोग बहुत मजबूती से खड़े रहेंगे। क्योंकि पूर्वांचल के जाने-माने यह कलाकार पूरे भारत में सेलिब्रिटी मैनेजमेंट और इवेंट डायरेक्शन फील्ड में अपनी महत्वपूर्ण पहचान बनाने वाले फिल्म के निर्माता अरविन्द चित्रांश का लगभग 30 वर्षों का अनुभव फिल्म की गंभीरता को बहुत ऊंचाई प्रदान करेगी। 


   पूर्वांचल विश्वविद्यालय की प्रथम महिला कुलपति प्रोफेसर निर्मला एस. मौर्य के अभिनंदन समारोह के संयोजक डॉक्टर अखिलेश चंद्र की फिल्म "अनकही" कार्यक्रम में पधारे महत्वपूर्ण हस्तियां। पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल, उप-कुलसचिव अमृतलाल, उप-कुलसचिव अजीत प्रताप सिंह, वित्ताधिकारी डॉ.एम. के.सिंह, परीक्षा नियंत्रक व्यास नरायन, प्रबंधक राम आधार सिंह और मुंबई से फिल्म के डायरेक्टर आशीष कुमार कश्यप और एक्ट्रेस मुस्कान मौर्य, कैमरामैन समीर सेमी के साथ कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रोफेसर। "अनकही" फिल्म के समीक्षक प्रोफेसर परशुराम पाल ने कहा कि नारी शक्ति और मर्यादाओं की जब बात होती है तो डॉ गीता सिंह का नाम जेहन में अपने आप आ जाता है. आप सभी को बताते चलें कि डॉ.अखिलेश सिंह की फिल्म "अनकही" की आत्मा में डॉ.गीता सिंह का दर्द बसा है. जिसका प्रोडक्शन ए.आर. इंटरटेनमेंट के अरविन्द चित्रांश कर रहे हैं.



     फिल्म के डायरेक्टर आशीष कुमार कश्यप ने बताया कि 3 करोड़ की लागत से प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ. अखिलेश चंद्र की कहानी "अनकही" पर बनने वाली फिल्म नेशनल और इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के प्रथम पायदान पर आएगी। हम अपने क्रिएटिव टीम के साथ लगभग 2 वर्षों से स्क्रिप्ट पर काम कर रहे हैं. इतनी जबरदस्त स्क्रिप्ट नारी शक्ति को मजबूती की  तरफ ले जाती हुई, भ्रूण हत्या जैसे सामाजिक मानसिक बीमारी पर कुठाराघात है. ए.आर. इंटरटेनमेंट के अरविंद चित्रांश के सौजन्य से "अनकही" फिल्म तो बहुत पहले बन गई होती लेकिन हमारी एक अन्य फिल्म- मुग़लसराय जंक्शन में व्यस्तता बढ़ गई थी. जो अब मैंने रिलीज कर दी है. आप लोग मुगलसराय जंक्शन फिल्म को जरूर देखिएगा हमने बहुत अच्छी फिल्म बनाने की कोशिश की है.