अर्थी के आगे डीजे और पीछे डांस करते परिवार

     राजस्थान के भरतपुर में एक वृद्ध की शव यात्रा में लोग शोक नहीं, बल्कि डीजे पर चलने वाले गानों की धुन पर नाचते-गाते जा रहे थे. अर्थी के आगे डीजे और पीछे डांस करते परिवार के लोगों को देख सब हैरान थे. श्मशान पहुंचने पर वृद्ध के शव का अंतिम संस्कार किया गया. इस दौरान परिवार के लोगों ने बताया कि 115 वर्ष की उम्र पार करने के बाद वृद्ध को स्वर्ग मिला है, इसलिये मातम नहीं मनाया गया.  


     ये मामला भरतपुर के नदबई कस्बे का है. विगत दिवस यहां के रहने वाले 115 वर्षीय बुजुर्ग दुर्ग सिंह की मौत हो गई. बुजुर्ग की मौत के बाद परिवार के लोग एक सदस्य कम होने से दुखी तो थे, लेकिन उन्होंने दुर्ग सिंह की मौत पर फैसला किया, कि वे अपनी आयु पूरी करके गये हैं, इसलिय ये मातम मनाने का समय नहीं है. परिवार के लोगों ने जब शव यात्रा निकाली, तो फैसला किया, कि कोई दुखी नहीं होगा. बल्कि हंसी-खुशी से दुर्ग सिंह को अंतिम विदाई दी जायेगी. 

     जब सड़क पर दुर्ग सिंह की शव यात्रा निकली, तो परिवार के लोगों के अलावा बड़ी संख्या में क्षेत्रीय लोग भी शामिल हुए. शव यात्रा में डीजे का इंतजाम किया गया था. डीजे पर चलते गानों की धुनों पर परिवार के सभी सदस्य झूमते हुए चल रहे थे. इस शव यात्रा को देख लोग हैरान थे, लेकिन परिवार के लोग वृद्ध को हंसी-खुशी के साथ अंतिम विदाई देना चाहते थे. श्मशान घाट पहुंचकर बुजुर्ग के शव का अंतिम संस्कार कर सभी ने हाथ जोड़कर अंतिम विदाई दी.

Popular posts
2,362 करोड़ का ड्रग्स जला देना, अवैध तस्करी के खिलाफ हमारी शीर्ष प्राथमिकता - देवेश चंद्र श्रीवास्तव (DGP, मिजोरम)
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी द्वारा रीजनल कॉलेज फॉर एजुकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में दो दिवसीय अन्तराष्ट्रीय कांफ्रेंस से देश में नए इलेक्ट्रॉनिक युग का प्रारंभ होगा - डॉ बी .डी. कल्ला
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा