ठेकेदारों के यहाँ से बरामद अवैध सम्पत्ति किसकी है - चित्तरंजन गगन 


     पटना - राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी से जानना चाहा है कि आयकर विभाग द्वारा किये गये छापामारी में सरकारी ठेकेदारों के यहाँ से प्राप्त 75 करोड़ रुपये की अघोषित सम्पत्ति किसकी है?



     राजद प्रवक्ता ने कहा कि जिन ठेकेदारों के यहाँ कल आयकर विभाग द्वारा किये गये छापामारी में 75 करोड़ रुपये के अवैध सम्पत्ति के कागजात और तीन करोड़ 21 लाख रूपए नकदी का पता चला है, वे मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री के काफी करीबी लोगों में हैं। इनकी सीधी पहुंच मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री सहित सत्ता से जुड़े नेताओं तक है। जिसका अनुचित लाभ उठाते हुए इन ठेकेदारों को सारे कायदे कानून को दरकिनार कर "सात निश्चय" के अधिन आने वाली योजनाओं का ठीका दिया जाता रहा है.


    बगैर काम कराये इन लोगों को करोड़ों-करोड़ रुपये का भुगतान भी होते रहा है। हालाकि विधानसभा चुनाव के समय केन्द्र सरकार के इशारे पर की गई यह छापामारी भाजपा के उस रणनीति का हीं हिस्सा है, जिसके तहत वह नीतीश कुमार के चेहरे से सुशासन बाबू का मुखौटा उतार कर उनसे अपने पुराने अपमान का हिसाब चुकता करना चाहती है। राजद प्रवक्ता ने कहा कि बगैर मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री के आशीर्वाद और संरक्षण के बिना काम कराये फर्जी कम्पनियों के नाम पर फर्जी बील बनाकर हजारों - हजार करोड़ रुपये का भुगतान करना संभव नहीं है।