भोले बाबा की नगरी में निखरा अनुपम सौन्दर्य

Video clip from - Praveen Saxena 

गगन में भी गुंजायमान हुआ हर हर महादेव - मोदी तेरी जय हो 

     बनारस। सोमवार को बनारस में कशी विश्वनाथ मंदिर के कॉरिडोर का उदघाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया. काशी विश्वनाथ मंदिर को यह कॉरिडोर सीधे पवित्र गंगा नदी से जोड़ता है. इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आज का भारत मंदिरों के जीर्णोद्धार के साथ साथ जरूरतमंदों के लिए पक्के मकान भी बना रहा है. विरासत भी है, विकास भी. इससे पहले मोदी ने गंगा में डुबकी भी लगाई फिर मंदिर निर्माण में कार्य करने वाले श्रमिकों पर पुष्प वर्षा कर उनका अभिवादन किया फिर उनके साथ, मुख्यमंत्री (UP) योगी आदित्य नाथ के साथ भोजन भी किया. 

     मंदिर कॉरिडोर निर्माण के लिए 400 घरों को तोडा गया. जहाँ 43 प्राचीन मंदिर मिले। उनमे एक तो विश्वनाथ मंदिर जैसी वास्तुकला का ही है. इन सबका भी जीर्णोद्धार किया गया. एक अनुमान के अनुसार कॉरिडोर के कार्य मेँ 32 महीने लगे एवं 339 करोड़ रूपये का बजट आया. 

     मंदिर परिसर मे ही यात्री सुविधा केंद्र, शॉपिंग काम्प्लेक्स, फ़ूड कोर्ट भी बनाए गए हैं ताकि यात्रियों को किसी भी असुविधा का सामना नहीं करना पड़े. मंदिर परिसर पहले 3000 वर्ग फ़ीट में ही था परन्तु अब यह 500,000 वर्गफ़ीट का हो गया है. इसमें महा रसोई भी बनाई गई है. इसमें प्रतिदिन 20,000 श्रद्धालु भोजन कर सकेंगे. मंदिर का चौक अब इतना विशाल है कि अब एक साथ 50 - 70 हजार भक्तगण एक साथ दर्शन कर सकेंगे।     


      

Popular posts
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image