सरकारों की उदासीनता के कारण लहसुन उत्पादक किसानों को हुआ 3,274 लाख रुपये का घाटा - रामपाल जाट

News from - गोपाल सैनी 

     जयपुर। किसान महापंचायत के  राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट ने कहा कि सरकार के द्वारा किसानों को उनकी उपजों के लाभकारी मूल्य दिलाने के वचन के उपरांत भी सरकारें किसानों से लहसुन खरीद में विफल रही है। पिछले अप्रैल से लेकर अब तक ढाई माह में 2,10,323 क्विंटल लहसुन मंडी में आ चुका है। जिसका घाटा 1557 प्रति क्विंटल के अनुसार 3,274 लाख रुपए होता है। लहसुन का बाजार हस्तक्षेप योजना में सरकारों ने दामों का निर्धारण 2957 रुपये प्रति क्विंटल किया। 

     लहसुन का एक क्विंटल उत्पादन का खर्चा 2500 रुपये प्रति क्विंटल से अधिक है जबकि अभी किसानों को बाजार में  1400 रुपये प्रति क्विंटल के दाम ही प्राप्त हो रहे हैं । सरकारों ने बाजार हस्तक्षेप योजना के अंतर्गत लहसुन खरीद की घोषणा तो कर दी किंतु खरीद आज तक भी आरंभ नहीं की। इसी से किसानों को यह घाटा उठाने को विवश होना पड़ रहा है. यह स्थिति तब है जब लहसुन उत्पादक किसान अनुनय-विनय नहीं सुनने के उपरांत कमाई छोड़कर लड़ाई के लिए सड़कों पर आंदोलनरत है।

     सरकार की संवेदनशीलता इस विषय में भी शून्य प्रतीत हो रही है जबकि सरकार किसानों को उनकी उपजों के लाभकारी मूल्य दिलाने की संसद में निरंतर घोषणा करती रहती है। ज्ञात रहे कि लहसुन ऐसी फसल है जिसकी बिक्री समय पर नहीं होने के कारण उसकी कली पिचक जाती है और उसकी उपयोगिता समाप्त होने से उसे सड़कों पर फेंकने के अतिरिक्त अन्य कोई विकल्प शेष नहीं रहता है। यही स्थिति प्याज की उपज की भी है। 

Popular posts
2,362 करोड़ का ड्रग्स जला देना, अवैध तस्करी के खिलाफ हमारी शीर्ष प्राथमिकता - देवेश चंद्र श्रीवास्तव (DGP, मिजोरम)
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी द्वारा रीजनल कॉलेज फॉर एजुकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में दो दिवसीय अन्तराष्ट्रीय कांफ्रेंस से देश में नए इलेक्ट्रॉनिक युग का प्रारंभ होगा - डॉ बी .डी. कल्ला
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा