आंधी-तूफान के बीच शराब की लाइन में अपनी बारी का इंतजार करते रहे लोग

     लॉकडाउन 3.0 में कई रियायतें देने और शराब की दुकानों को खोलने की इजाजत के बाद देशभर में शराब खरीदने वालों की लंबी-लंबी लाइनें देखी जा सकती है। भारी संख्या में खरीदने के लिए लोगों के पहुंचने के बाद राज्य सरकारों ने अपने राजस्व में हुए घाटे की भरपाई के लिए शराब के ऊपर 50 से 70 प्रतिशत तक ‘स्पेशल कोरोना सेस’ तक लगा दिया है।



     इसके बावजूद लॉकडाउन के तीसरे चरण में सोमवार को यानी पहले दिन जिस तरह की लाईन देखी गई थी कुछ वैसा ही नजारा मंगलवार को भी दिखा। उत्तराखंड के नैनीताल के माल रोड का नजारा तो और भी हैरान कर देनेवाला था। तेज आंधी और तूफान के बीच लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए शराब की लंबी लाइन लगकर शराब खरीदते हुए दिखे। कई लोग तो बिना छाता ही भींगते हुए इस उम्मीद में अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे कि वे शराब खरीदकर जाएंगे।


Lockdown 3.0 का दूसरा दिन: शराब की दुकानों के बाहर लंबी कतारें


     लॉकडाउन के तीसरे चरण के दूसरे दिन भी हालात पहले दिन की ही तरह रहे। शराब की दुकानों के सामने लोगों की लंबी लाइनें देखी गईं। कई राज्यों में शराब की दुकानों के बाहर लंबी कतारों और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने की वजह से पुलिस बल इस्तेमाल करना पड़ा था। वहीं, कुछ दुकानों के खुलने के कुछ ही समय बाद उसे नियमों को न मानने की वजह से बंद करना पड़ गया।


Popular posts
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image