राजस्थान में सुलह का फॉर्मूला! गृह-वित्त मंत्रालय के साथ अध्यक्ष पद रखना चाहते हैं सचिन पायलट

     राजस्थान में एक बार फिर राजनीतिक हालात करवट लेते हुए दिख रहे हैं. सोमवार दोपहर को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सौ से अधिक विधायकों की परेड करवाकर अपना शक्ति प्रदर्शन किया. इस बीच अब सचिन पायलट की ओर से बातचीत का फॉर्मूला सामने रखा जा रहा है. इसी संदेश को लेकर केंद्रीय नेतृत्व की ओर से राजीव साटव जयपुर पहुंचेंगे.



     सूत्रों की मानें, तो सचिन पायलट की मांग है कि उनके चार विधायकों को मंत्री बनाया जाए. साथ ही सचिन पायलट के मंत्रियों को वित्त और गृह मंत्रालय दिया जाए. जबकि प्रदेश अध्यक्ष का पद भी सचिन पायलट के पास ही रहे. बताया जा रहा है कि प्रियंका गांधी खुद इस मामले में एक्टिव हैं और अशोक गहलोत-सचिन पायलट से बात कर रही हैं. ताकि मामले को सुलझाया जा सके.


नरम पड़ गए सचिन पायलट - सचिन पायलट लगातार दावा कर रहे थे कि उनके पास 30 से अधिक विधायकों का समर्थन है, लेकिन अब ऐसा नहीं दिख रहा है क्योंकि अशोक गहलोत सौ से अधिक विधायकों की परेड करा चुके हैं. ऐसे में सचिन पायलट की ओर से सुलह की कोशिश की जा सकती है, लेकिन अब कांग्रेस पर नजर रहेगी कि वो क्या फैसला लेते हैं.


Popular posts
गंगा हरीतिमा एवं सरयू संरक्षण महाअभियान वन विभाग और समाजसेवीयों द्वारा सरयू आरती के साथ वृक्षारोपण, पितृ दिवस पर संपन्न हुआ
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय नवी अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को फुटबॉल नहीं बनावे बल्कि सिंचाई प्रधान बनाने के लिए केन्द्र व राज्य मिलकर काम करें
Image