भारत घूमने आए युवक-युवती लॉकडाउन में फंस गए - मंदिर में की शादी

     प्यार कब, किसे, कहां हो जाए...नहीं पता. स्पेन का युवक और अमेरिका की युवती भारत घूमने आए. दिल्ली में मुलाकात हुई, दोस्ती हो गई और फिर साथ-साथ घूमने चल पड़े. इस बीच दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे और शादी का फैसला किया. उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग से 26 किलोमीटर दूर बांसवाड़ा में ग्रामीणों की मदद से दोनों ने स्थानीय मंदिर में हिंदू रीति-रिवाज से शादी और साथ जीने मरने की कसमें खाईं. 



     इस विदेशी कपल के लिए सात समंदर पार शादी करना एक इत्तेफाक है. दोनों की लव स्टोरी एक फिल्मी कहानी जैसी है. भारत घूमने आए दोनों लॉकडाउन के चलते यहां फंस गए. फिर धीरे- धीरे दोनों के पैसे सीमित होने लगे और पैदल घूमने का फैसला लिया. इस बीच दोनों का प्यार परवान चढ़ता गया और शादी करने की सोचने लगे. दोनों कभी पैदल चलते हैं, कहीं पर लिफ्ट लेते हुए रात बिताने के लिए कोई सस्ता होटल तलाशने लगे. एक सप्ताह पहले दोनों ऋषिकेश पहुंचे थे. बुधवार को रुद्रप्रयाग होते हुए बांसवाड़ा. यहां दोनों एक होटल में गए जहां पर इनकी मुलाकात सामजिक कार्यकर्ता अमित सजवाण हुई. दोनों ने अपनी कहानी सुनाई और अमित ने स्थानीय लोगों की मदद से इनकी शादी करा दी.


     सीजल और मेरिक की शादी बांसबाड़ा के कुटीर मंदिर में संपन्न हुई. इस दौरान हिंदू रीति-रिवाजों का पालन किया गया. विवाह होने के बाद ये विदेशी कपल काफी खुश नजर आया.  कुछ दिन पहले विदेशी युवक और युवती को रुद्रप्रयाग में भी देखा गया था. जहां पुलिस को भी इन्होंने अपनी कहानी सुनाई थी. स्पेन के रहने वाले सेजल पेशे से व्यवसायी हैं और उनकी अमेरिकी पत्नी मेरिक ने अभी अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी है. भारत आने से पहले ये दोनों एक दूसरे को जानते तक नहीं थे. लेकिन लॉकडाउन ने दोनों को एक साथ हमेशा के लिए लॉक कर लिया.