किसानों की जेब ख़ाली रहे और देश महाशक्ति बन जाये यह सम्भव ही नहीं है - रामपाल जाट (राष्ट्रीय अध्यक्ष, किसान महापंचायत)

      नई दिल्ली. किसान महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट ने किसान घाट पहुंच कर चौधरी चरणसिंह को पुष्पांजलि अर्पित करतें हुए नमन किया। उन्होंने कहा कि चौधरी चरण सिंह का जन्म 23 दिसंबर 1902 को  हुआ था। वह भारत के किसान राजनेता एवं पाँचवें प्रधानमंत्री थे। उन्होंने यह पद 28 जुलाई 1979 से 14 जनवरी 1980 तक संभाला। चौधरी चरण सिंह ने अपना संपूर्ण जीवन भारतीयता और ग्रामीण परिवेश की मर्यादा में जिया तथा किसानों को हमेशा कहा कि आपकी एक आंख दिल्ली एवं दूसरी आंख खेत पर होनी चाहिए।

     उन्होंने देश की समृद्धि का एकमात्र मार्ग खेत और खलिहान को बताया। सरकारों के इस रास्ते पर नहीं चलने के कारण किसान व किसानी पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। इसी का परिणाम है कि देश के ललाट पर किसानों की आत्महत्याओं का कलंक लगा है। जो किसान ऋणदाता होना चाहिए था वह ऋणों के बोझ तले दब हुआ है इतना नहीं उसे कृषि उपजों की लागत नहीं मिल रही है जिससे उसकी ऋण चुकाने की क्षमता भी नहीं बची है।

     कृषि प्रधान भारत में किसानों की जेब ख़ाली रहे और देश महाशक्ति बन जाये यह सम्भव ही नहीं है। चौधरी चरण सिंह की जयंती के अवसर पर किसान दिवस के उपलक्ष्य में देश के ललाट से आत्महत्याओं का कलंक धौकर देश को महाशक्ति बनाने के लिए कृषि उपजों के लाभकारी दाम हेतु न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद की गारंटी का कानून बनाने का संकल्प लेना चाहिए।



Popular posts
2,362 करोड़ का ड्रग्स जला देना, अवैध तस्करी के खिलाफ हमारी शीर्ष प्राथमिकता - देवेश चंद्र श्रीवास्तव (DGP, मिजोरम)
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी द्वारा रीजनल कॉलेज फॉर एजुकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में दो दिवसीय अन्तराष्ट्रीय कांफ्रेंस से देश में नए इलेक्ट्रॉनिक युग का प्रारंभ होगा - डॉ बी .डी. कल्ला
Image
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं रीजनल कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में नंवे अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
Image
पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ERCP को सिंचाई आधारित परियोजना बनाते हुए केंद्र एवं राज्य मिलकर काम करें - रामपाल जाट
Image
हर किसान का यही पैगाम, खेत को पानी, फसल को दाम - रामपाल जाट